Thursday, October 18, 2018

Sharbat Anar Shirin | शर्बत अनार शीरीं


आज मैं बताने वाला हूँ शर्बत अनार शीरीं बनाने का तरीका, इसके फ़ायदे और इस्तेमाल के बारे में. अनार को हम सभी जानते हैं, इसे ही कई जगह बेदाना और बिदाना भी कहा जाता है. यह गुणों से बेजोड़ फल होता है, तो आईये जानते हैं इसी अनार से बनाई जाने वाली दवा शर्बत अनार शीरीं के बारे में तफसील से -

शर्बत अनार शीरीं बनाने का तरीका 

इसके लिए आपको चाहिए होगा मीठे अनार का जूस एक लीटर, चीनी दो किलो, गुलाबी रंग और अनार का एसेंस.

बनाने का तरीका यह है कि सबसे अनार के जूस को एक बर्तन में डालकर स्लो आँच में आधा लीटर रहने तक उबालना है. उसके बाद चीनी मिला लें और ठण्डा होने पर छान लें. ठण्डा होने पर इसमें गुलाबी रंग और अनार का एसेंस मिलाकर काँच की बोतल में भरकर रख लें. मार्केट जो मिलता है उसमे प्रीज़रवेटिव भी मिला होता है जिस से जल्दी ख़राब नहीं होता. अगर सही से बनाया जाये तो बिना प्रीज़रवेटिव के भी ख़राब नहीं होता.

शर्बत अनार शीरीं के फ़ायदे 

वैसे ज़्यादातर इसे अनुपान या सपोर्टिंग मेडिसिन की तरह ही इस्तेमाल किया जाता है.

इसके फ़ायदे की बात करें तो यह बॉडी की गर्मी और जलन को कम करने वाला, दिल खुश करने वाला, थकान मिटाने वाला, हाजमा ठीक करने वाला, भूख जगाने वाला और मुँह का ज़ायका ठीक करने वाला और मज़ेदार होता है.

गर्मी के दिनों में इसे ऐसे भी जनरल शर्बत की तरह इस्तेमाल किया जाता है.

शर्बत अनार शीरीं का डोज़ और इस्तेमाल करने का तरीका 

बॉडी की गर्मी, जलन, नकसीर वगैरह में एक से चार स्पून तक रोज़ दो-तीन बार पानी मिक्स कर पीना चाहिए. चीनी की मात्रा  होने से डायबिटीज वालों को इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

SHARBAT DINAR KE FAYDE

No comments:

Post a Comment